तांत्रिक क्रिया का तोड़

Tantra Mantra

तांत्रिक क्रिया का तोड़

निम्न लिखित तांत्रिक क्रिया का तोड़ का मंत्र बहुत प्रभावशाली है। Tantramantra.in एक विचित्र वेबसाइट है जो की आपके लिए प्राचीन तंत्र मंत्र सिद्धियाँ टोन टोटके पुरे विधि विधान के साथ लाती है. TantraMantra.in कहता है सभी तांत्रिक मित्रों को इन कार्यविधियों को गुरु के मध्य नज़र ही करना चाहिये। तथा इन इलमो को केवल अच्छे कार्य में ही इस्तेमाल करना चाहिए, अन्यथा आपको इसके बुरे परिणाम का सामना खुद ही करना होगा ।

कुदरती टोटके जो मनुष्य पढ़कर खुद करेगा उसी का कार्य पूर्ण होगा और जो दूसरे को पढ़कर बतायेगा जिसको बतायेगा उसका कार्य नहीं होगा, जो पढ़ेगा और बिना किसी व्यक्ति को बताये करेगा उसी का कार्य सम्पूर्ण होगा।

निम्नलिखित तंत्र मंत्र प्राचीन तंत्र मंत्र साहित्यो से लिए गए हैं! जैसे इंद्रजाल, लाल किताब, शाबर मंत्र संग्रह इत्यादि|

तांत्रिक क्रिया का तोड़

विधि –इस मंत्र के प्रयोग से बंधन योग समाप्त हो जब कोई दुस्टग्रह पीछे पड़ जाये तो या कोई तांत्रिक बन्धन कर दे तो इस मंत्र का नवरात्र में  प्रतिदिन 21 बार जप करें। इस मंत्र के प्रभाव से बंधन योग समाप्त हो जाता  है और सुख-शांति की प्राप्ति होती है 

मंत्र –
ॐ नमोस्तुष्ते भगवते  पाशर्वचद्धाधरेन्द्
पद्मावती सहिताय मेउभीष्ट सिद्धि दुष्ट-
ग्रह भस्म भक्ष्य॑ स्वाहा। स्वामी
प्रसादे कुरू कुरू स्वाहा। हिलहिलि
मातंगनि स्वाहा। स्वामी प्रसादे कुरू कुरू स्वाहा। 

1 thought on “तांत्रिक क्रिया का तोड़”

Leave a Comment