हनुमान शाबर मंत्र एवं हनुमान सिद्धि

Tantra Mantra

हनुमान शाबर मंत्र एवं हनुमान सिद्धि

निम्न लिखित हनुमान शाबर मंत्र बहुत प्रभावशाली है। Tantramantra.in एक विचित्र वेबसाइट है जो की आपके लिए प्राचीन तंत्र मंत्र सिद्धियाँ टोन टोटके पुरे विधि विधान के साथ लाती है. TantraMantra.in कहता है सभी तांत्रिक मित्रों को इन कार्यविधियों को गुरु के मध्य नज़र ही करना चाहिये। तथा इन इलमो को केवल अच्छे कार्य में ही इस्तेमाल करना चाहिए, अन्यथा आपको इसके बुरे परिणाम का सामना खुद ही करना होगा ।

कुदरती टोटके जो मनुष्य पढ़कर खुद करेगा उसी का कार्य पूर्ण होगा और जो दूसरे को पढ़कर बतायेगा जिसको बतायेगा उसका कार्य नहीं होगा, जो पढ़ेगा और बिना किसी व्यक्ति को बताये करेगा उसी का कार्य सम्पूर्ण होगा।

निम्नलिखित तंत्र मंत्र प्राचीन तंत्र मंत्र साहित्यो से लिए गए हैं! जैसे इंद्रजाल, लाल किताब, शाबर मंत्र संग्रह इत्यादि|

मंत्र हनुमान सिद्धि ( हनुमान शाबर मंत्र )

विधि –  हनुमान शाबर मंत्र इस मंत्र का अनुष्ठान मंगलवार या शनिवार से प्रारम्भ करें। हनुमान जी को सिन्दूर का चोला, जनेऊ, खड़ाऊं, लंगोट, दो लड्डू और ध्वजा चढ़ा इसके बाद प्रत्येक मंगलवार को व्रत रखें। लाल वस्त्र धारण करें तथा लाल  चन्दन की माला से जपादि कर्म करें। शनिवार को चने तथा गुड़ का वितरण करें। इस मंत्र की दस मालायें प्रतिदिन जपें। यह कर्म तीन महीने तक करें सदा पवित्र रहें। हनुमानजी दर्शन देंगे। उस समय जो चाहें मांग लें।

मंत्र – 
ॐ  हनुमान पहलवान।
वर्ष बारहा का जवान।
हाथ में लड्डू मुख में पान।
आओ आओ बाबा हनुमान
न आओ तो दुहाई महादेव गौरा पार्वती की।
शब्द सांचा।
पिण्ड कांचा।
फुरो मंत्र ईश्वरोवाचा।

हनुमान सिद्धि 2

विधि –  कहीं निर्जन (उजाड़) स्थान में कोई अंधा कुआं देखें शुद्ध मिट्टी में लाल रंग मिलाकर हनुमान जी की प्रतिमा बनाये और उसे सिंदूर  का चोला चढ़ाकर इस हनुमान शाबर मंत्र का जाप करें। एक माला का जप निसदिन करे और 21  दिन तक इस क्रिया को चलाते रहें। हो सकता है रामदूत स्वयं उपस्थित हो जाये  नहीं आएं तो सैकड़ों मेघों गर्जन करते हुए आकाशवाणी होगी उसे धियान से सुने और यदि कर सकें तो वचन ले लें।

मंत्र – 
ॐ नमो देव लोक दिविख्या देवी।
जहां बसे इस्माईल जोगी।
छप्पन भैरों। हनुमन्त वीर ।
भूत-प्रेत दैत्य को मार भगावें।
पराई माया ल्यावे।
लाडू, पेड़ा, बरफी, सेब, सिंघाडा, पाक, बताशा।
मिश्री, घेबर, बालूसाई, लौंग, डोडा, इलायची दाना।
तेल देवी काली के ऊपर।
हनुमन्त गाजै। एती वस्तु मैं चाहि लावै।
न लाबे तो तैंतीस कोटि देवता लावें।
मिरची जावित्री जायफल हरड़े जंगी-हरड़े।
बादाम छुहारा मुफरें। रामवीर तो बतावै बस्ती।
लक्ष्मण वीर पकड़ावैं हाथ। भूत-प्रेत के चलावे हाथ  
हनुमन्त वीर को सब कोऊ गाव। सौ कोसां का बस्ता लावे।
न लावे तो एक लाख अस्सी हजार वीर । 
पैगम्बर लावे । शब्द सांचा ।
फुरो मंत्र ईश्वरों वाचा ।

हनुमान सिद्धि 3

विधि –  हनुमान जी विषयक सभी नियम मानते हुए हनुमान शाबर मंत्र की दस माला प्रतिदिन जपें। 21 दिन पूरे होने पर  किसी भी रूप में हनुमान जी आ सकते हैं। श्रद्धा तथा विश्वास से उन्हें जीतें।

मंत्र –  
अजरंग पहनूं। बजरंग पहलनूं।
सब रंग रखूं पास। दांये चले भीम सेन।
बांये हनुमन्त। आगे चले काजी साहब।
पीछे कुल बलारद। आतर चौकी कच्छ कुरान।
आगे पीछे तूं रहमान। धड़ खुदा, सिर राखे सुलेमान।
लोहे का कोट। तांबे का ताला।
‘करला हंसा बीरा। ‘करतल बसे समुद्र तीर।
हांक चले हनुमान की। निर्मल रहे शरीर।

हनुमान सिद्धि 4

विधि –  हनुमान जी विषयक पूर्ण नियमों के साथ मंगलवार के दिन से इस हनुमान शाबर मंत्र का शुभारम्भ करें और पांच मंगलवार तक करें।

मंत्र – 
हनुमान जाग। किलकारी मार।
तूं हुंकारे। राम काज संवारे।
ओढ़ सिन्दूर सीता मइया का। तूं प्रहरी राम द्वारे।
मैं बुलाऊं, तू अब आ। राम गीत तू गाता आ।
नहीं आये हनुमाना तो राजा राम, सीता मइया की दुहाई।
मंत्र सांचा फुरो खुदाई।

अगर आपको हनुमान शाबर मंत्र एवं साधना पसंद आई हो तो कृपया निचे कमेंट करें अथवा शेयर करें

यह भी पढ़े:-

  1. काल भैरव सिद्धि मंत्र
  2. काली माँ महाकाली भद्रकाली मंत्र
  3. मसान भेजने का मंत्र
  4. शक्तिशाली दुर्गा मंत्र
  5. बगलामुखी मंत्र

1 thought on “हनुमान शाबर मंत्र एवं हनुमान सिद्धि”

Leave a Comment