लाल किताब के सिद्ध 25 टोटके और उपाय | lal kitab ke totke

निम्न लिखित लाल किताब के सिद्ध 25 टोटके और उपाय बहुत प्रभावशाली है। Tantramantra.in एक विचित्र वेबसाइट है जो की आपके लिए प्राचीन तंत्र मंत्र सिद्धियाँ टोन टोटके पुरे विधि विधान के साथ लाती है. TantraMantra.in कहता है सभी तांत्रिक मित्रों को इन कार्यविधियों को गुरु के मध्य नज़र ही करना चाहिये। तथा इन इलमो को केवल अच्छे कार्य में ही इस्तेमाल करना चाहिए, अन्यथा आपको इसके बुरे परिणाम का सामना खुद ही करना होगा ।

कुदरती टोटके जो मनुष्य पढ़कर खुद करेगा उसी का कार्य पूर्ण होगा और जो दूसरे को पढ़कर बतायेगा जिसको बतायेगा उसका कार्य नहीं होगा, जो पढ़ेगा और बिना किसी व्यक्ति को बताये करेगा उसी का कार्य सम्पूर्ण होगा।

निम्नलिखित तंत्र मंत्र प्राचीन तंत्र मंत्र साहित्यो से लिए गए हैं! जैसे इंद्रजाल, लाल किताब, शाबर मंत्र संग्रह इत्यादि|

Table of Contents

लाल किताब के सिद्ध 25 टोटके और उपाय लिस्ट

उपाय – 1 ॥ गर्भ धारण हेतु फल, घृत॥

निवारण – त्रिफला , महुरेठी, कूट, दोनों हल्दी, कुटकी, बायविडंग, पीपरि मेथा, कायफल, मेदा, महामेदा, काकोली, असगंध, सरिवन, पिथवन, मकरा, सौंफ, हींग, रासन, दोनों चंदन, चमेली के फूल, वंशलोचन, कमल, शक्कर, अजमोद, दतून ये दवा सब तोला-तोला भर लें और एक रंग के बछड़ा वाली गाय का घी दवाओं का चौगुना और उसका चौगुना दूध बिनुवांकंडा की आंच में मंद-मंद काढ़ा कर पकावें, फिर मिट्टी या तांबे के पात्र में रख छोड़ें, सुन्दर मुहूर्त तिथि  में जो स्त्री इसका सेवन करे, इसके प्रभाव से बन्धया के पुत्र हो और मृतवत्सा का पुत्र चिरायु हो।

उपाय – 2 ॥ घर की रक्षा के लिए ॥

निवारण – इतवार या मंगल को मरे हुए वानर की खोपड़ी सूतिका घर में रखने से कोई बाधा नहीं आती।

॥अन्या।

शाम-सवेरे अष्टगंध गूगल का धुआं करने से किसी प्रकार की बाधा नहीं आती।

उपाय – 3 बालक रोवे नहीं  

निवारण – इतवार या मंगल को नीलकठ पक्षी का पंख लाकर जिस चारपाई में बालक सोता हो उसमें खोंस देवे तो बालक रोवे नहीं।

उपाय – 4 जमोगा रोग 

निवारण – सफेद कबूतर का जोड़ा घर में रखने से जमोगा की बाधा नहीं आती।

॥अन्या।

देशी साबुन मटरा भर बंगला पान के रस में घोटकर पिला दें ।

॥अन्या।

जायफल और कस्तूरी एक रत्ती प्रमाण बंगला पान में घोटकर पिलावें।

उपाय – 5 बालक की सर्दी दूर करने के लिए

निवारण – सेहुंड़ का पत्ता गुनगुना कर उसका अर्क पिलावे।

॥अन्या।

व्याघ्र का मांस रत्ती-रत्ती खिलावें अथवा माता के दुग्ध में पीसकर दो रत्ती प्रमाण जायफल पिलावें अथवा समुद्रफेन घिसकर पिलावें।

उपाय – 6 बालक की नजर बाधा को दूर करने के लिए उपाय

निवारण – इतवार या मंगल को भिलावे के फल सात या पांच बालक के ऊपर उतार कर चूल्हे में फूंक दें।

॥अन्या।

अर्दरत्रि में चौराहे पर बालक को’ ले जाकर गर्म पानी से नहलावें अथवा सात प्रकार के आनाज या सात प्रकार की मिठाई सवा सेर बालक के ऊपर उतारा कर चौराहे में रख दें।

उपाय – 7 गंजापन दूर करने के लिए उपाय। 

निवारण – शरोफा और कैथा की पत्ती बराबर बांटकर सिर में लेप करें अथवा चमेली के तेल में हाथी दांत की भस्म मिलाकर मलें अथवा कपास के बीज  तेल खाली लगाने से सिर की झाई व गंजापन आदि सब दूर हो।

उपाय – 8 ॥ सिर दुखना बन्द हो॥

निवारण – मुचकुन्द के फूल पीसकर मस्तक पर लगावें अथवा हींग और अफीम को घिसकर लगाना सर्द की सिर पीड़ा के लिए आरामदायक साबित होता है या ईसबगोल का लुआब खतमी के फूलों में मिलाकर लगावें।

उपाय – 9 आधा सीसी का दर्द का उपाय

निवारण – शीतल चीनी और कपूर छ:-छ; माशे बारीक पीस एक छटांक गऊ के ताजे गहि में भून कर घी मले तिल की पत्ती, सिरका या पानी में पीसकर लगाने से लाभदायक साबित होगा।  

उपाय – 10 मुख में छाले का उपाय। 

निवारण – फिटकरी, शीतल चीनी, छः-छ; माशे लेकर खूब महौन पीसकर गर्म पानी में डालकर सुहाता-सुहाता कुल्ला करें अथवा गूलर के दूध में पापरी कत्था और सुपारी घिसकर जीभ पर लगावें अथवा शीतल चीनी, बंशलोचन, रूमीमस्तगी, गुजराती इलायची, गुर्च का सत, पीपरी छोटी, मिश्री, ये सब दबायें छ:-छ: माशे ले कूट कर कपड़े से छान कर एक तोला मक्खन के साथ खावे तो जीभ के छालों के लिए फायदेमंद होगा।

उपाय – 11 दांत की पीड़ा हेतु उपाय। 

निवारण – फिटकरी, बड़ी हर्र, खट्टे अनार का छिकला, सेंधा नमक बराबर सब एक साथ मिलाकर कूट कर कपड़े से छान कर दांतों में मले, अथवा भुनी लाल फिटकरी व भुनी अफीम, नमक हुलास, काली मिर्च, भुनी सोंठ,चूल्हे का पूता, बकरा की हड्डी कौ भस्म बराबर ले कूट छानकर दांतो में मले। अथवा मौलसिरी की छाल की राख दांतों पर मलें अथवा बबूल कै पंचांग के काढ़ा की कुल्ली करना दांत की पीड़ा श्रेष्ठ है। थोड़ा-सा को हींग दाढ़ के अन्दर भर दें तो कीड़े मर जावें.तम्बाकू और काली मिर्च दांत पर मले।

उपाय – 12 कण्ठ रोग का उपाय

निवारण – सूखा करेला सिरके में पीस गुनगुना लेप करें अथवा तांबे के बीज, गेरू, लाल चंदन, काला जीरा, सिरस की छाल, मसूर, काली मिर्च, काली जीरा, सूखा करेला, सोये के बीज ये सब दवायें बराबर सिरके में पीसकर गुन-गुनाकर कण्ठ में लेप करना शोथ तथा पीड़ा के लिये लाभदायक है। सेमर की छाल जलाकर तिल के तेल में मिलाकर लेप करें मेथी और जव का आटा बराबर सिरके में पीसकर कुछ गर्म लेप करें। 

वह औषधि जोकि कण्ठ के नासूर और कण्ठमाला को फायदा करे-छिपकली मारकर कड़वे तेल में जलाकर उसका मरहम तेल में जलाकर उसका मरहम जख्म पर लगावे नीम की गूदी, कंजा की छाल और पिस्ते का दाना अलसी के तेल में मिलाकर जख्म पर लगाना चाहिये।

उपाय – 13 खासी का उपाय

निवारण – त्रिकुटा, त्रिफला, लोहरस, कुटको, हर, अफीम, शोधा हुआ धतूरे का बीज, गुजराती इलायची, चिरायता, कपूर, लौंग, जायफल इन सब की बराबर मात्रा ले कूट कर कपड़े में छानकर सहिजन के रस में चार पहर घोटकर  चना प्रमाण गोली बनाकर मुख में रखें तो खांसी जाये।

बांसा के पंचांग का काढ़ा प्रात: काल पियें तो खांसी शवास दूर हो अथवा बहेरे का छिलका, मुलेठी, मिश्री बराबर ‘कूट छान कर शहद में सुबह-शाम चाटें शंख की राख छ: माशे पान के बीड़े में खायें तो खांसी दूर हो अथवा कंटकारी के फूल खावें तो खांसी को लाभ करे।

उपाय – 14 हिचकी का उपाय 

निवारण – पिपरी, बंशलोचन, गुजराती इलायची, तज, मिश्री यह सीतोपलादि नामक चूर्ण शहद में चाटे तो सब प्रकार की हिचकी दूर हो अथवा भटकटैया का पंचांग चार सेर चौगुने जल में औटावे, जब. चौथाई रहे तब उसमें ये दवायें डाले, गुर्च, चाव, चौता, मोथा, काकरासिंगी, त्रिकुटा, जवासा, भारंगी, कचूर, प्रत्येक पल-पल और शक्कर बीस पल,घृत आठ पल, शहद चार पल, बंशलोचन, पिपरी चार पल मिलाकर उत्तम पात्र में रख छोड़े, फिर एक तोला सुबह-शाम खाये तो हिचकी,शवास,कास का नाश करे।

उपाय – 15 पितृगणों को शान्ति स्थापित करना

निवारण – अमावस्या के दिन जो भी भूखा और दुखी आदमी हो उसे खाना और कपड़ा पहना दो। शान्ति स्थापित हो जायेगी।

उपाय – 16 नौकरी लगाने के लिए और कोई भी रोजगार के लिए

निवारण – शनिवार को गाय के गोबर के 7 गीले दीपक बनाओ और सरसों का तेल डालकर उन पर 7 बाती लगाकर जला दो  7 शनिवार चलते पानी में प्रवाहित करो जल्द ही नौकरी लग जायेगी।

उपाय – 17 घर के अन्दर शान्ति स्थापना करना

निवारण – घर के चूल्हें की मिट्टी थोड़ी उत्तारकर सब परिवार के सदस्यों पर उतार कर लगातार 7 दिन तक दरिया में बहा दो सभी परिवार में शान्ति स्थापित होगी।

उपाय – 18 परिवार में छोटे-बड़ों का आदर न करें

निवारण – सुपारी में छेद करो और जो व्यक्ति नहीं कहना मानता हो उसका कपड़ा उस सुपारी में डाल दो और उसको पीपल की जड़ में बांध दो। 5 सोमवार पीपल पर जल चढ़ाओ,तुरन्त कहना मानने लगेगा।

उपाय – 19  पुत्र-पुत्री की शादी के लिए

निवारण – कच्चे अनार में छिद्र करके उसमें धागा पहना दो और वह धागा सफेद रंग का हो उसे पीपल की जड़ में बाँध दो और अनार को ऊपर पीपल पर स्थापित कर दो जिस दिन करोगे उस दिन से 77 दिन तक पीपल पर साबुत मूंग चढ़ावे।

उपाय – 20 पुत्री-पुत्र मुलिया हो शान्त करने के लिए

निवारण – अनार की जड़ के ग्यारह: टुकड़े करो और जिस पर मूल हो वह उन जड़ों को 1-1 करके रोज दूध और जड़ पीपल पर चढ़ावे यह कार्य हर वर्ष जब जन्मदिन से 11 दिन पहले शुरू करना है कभी भी असर नहीं रहेगा।

उपाय – 21 मनुष्य या बच्चा रात को डरें

निवारण – बबूल के वृक्ष की जड़ अपने तकिया के नीचे रखें या अपने बायें पैर से बाँध लें।

उपाय – 22 जिस मनुष्य का धन का हाथ भगतों या स्याने द्वारा बाँध दिया गया हो उसे रोकने के लिए

निवारण – पाँच शनिवार डाभ जड़ से उखाड़ कर और सवा सौ ग्राम गुड़ पीपल के पेड़ पर रख दें हर शनिवार पाँच शनिवार यह कार्य करना है। धन आने लगेगा।

उपाय – 23 पंचायत या फैसला या अंडगे में जाना हो सफल होने के लिए

निवारण – पाँच किस्म की दाल साथ रखों जहाँ जाओ उसके आसपास उसमें से दो दाल छोड़ दो बाकी अपने साथ रखो घर आने के बाद पानी में डाल दो।

उपाय – 24 परिवार के अन्दर घर के अन्दर ऊपरी हवा छोड़ रखी हो पता चल गया हो

निवारण – शनिवार से 3 दिन तक 7 पूड़े मीठे, 7 पतासे चौराहे पर रात के अंधेरे में रखें और मंगल, बुध, बृहस्पतिवार तक तालाब में आटे का हलवा और पतासे या लड्डू रखें। दिन वीरवार (बृहस्पतिवार) को मीठे चावल पीर पर चढ़ायें।

उपाय – 25 परिवार का मनुष्य घर से चला जाता है बुलाने के लिए

निवारण – चक्की के पाठ के नीचे घी का ‘ चिराग 7 दिन तक लगातार जलाओ सपने में दिखेगा जिन्दा है या मर गया या फिर ‘घर के लिए चल दिया है। अगर जिन्दा है तो तुरन्त घर के लिए उतावला हो उठेगा।

अगर आपको लाल किताब के सिद्ध 25 टोटके और उपाय पसंद आये हो तो कृपया निचे कमेंट करें अथवा शेयर करें

यह भी पढ़े:-

  1. 10 शीघ्र धन प्राप्ति के उपाय
  2. लक्ष्मी मंत्र
  3. गुरु बृहस्पति को प्रसन्न करने के उपाय/गुरु बृहस्पति मंत्र
  4. शुक्र ग्रह को मजबूत करने के उपाय लाल किताब
  5. लाल किताब व्यापार में उन्नति के उपाय

2 thoughts on “लाल किताब के सिद्ध 25 टोटके और उपाय | lal kitab ke totke”

Leave a Comment