Tantra Mantra

बुध ग्रह के दोष एवं उपाय लाल किताब

निम्न लिखित बुध ग्रह मंत्र बहुत प्रभावशाली है। Tantramantra.in एक विचित्र वेबसाइट है जो की आपके लिए प्राचीन तंत्र मंत्र सिद्धियाँ टोन टोटके पुरे विधि विधान के साथ लाती है. तंत्रमंत्र कहता है सभी तांत्रिक मित्रों को इन कार्यविधियों को गुरु के मध्य नज़र ही करना चाहिये। तथा इन इलमो को केवल अच्छे कार्य में ही इस्तेमाल करना चाहिए, अन्यथा आपको इसके बुरे परिणाम का सामना खुद ही करना होगा । निम्न लिखित बुध ग्रह मंत्र बहुत प्रभावशाली है। कुदरती टोटके जो मनुष्य पढ़कर खुद करेगा उसी का कार्य पूर्ण होगा और जो दूसरे को पढ़कर बतायेगा जिसको बतायेगा उसका कार्य नहीं होगा, जो पढ़ेगा और बिना किसी व्यक्ति को बताये करेगा उसी का कार्य सम्पूर्ण होगा।

Tantra Mantra लाया है आपके लिएबुध ग्रह मंत्र! यह मंत्र बहुत ही प्रभावशाली तथा असरदायी है कृपया इन्हे गुरु की देख रेख में ही सिद्ध करें! इन मंत्रो का गलत उपयोग करने का कभी न सोचे इससे आपको खुद भी चोट हो सकती है, आपके साथ हुई किसी भी प्रकार की अनहोनी के लिए TANTRA MANTRA ज़िम्मेदार नहीं होगा!

बुध ग्रह के मंत्र एवं उपाय

जरुरी सूचना

कुदरती टोटके जो मनुष्य पढ़कर खुद करेगा उसी का कार्य पूर्ण होगा और जो दूसरे को पढ़कर बतायेगा जिसको बतायेगा उसका कार्य नहीं होगा, जो पढ़ेगा और बिना किसी व्यक्ति को बताये करेगा उसी का कार्य सम्पूर्ण होगा।

श्री बुद्ध ग्रह मन्त्र

मंत्र

बुद्धश्यान्ति ब्रह्मयामि,
तेजस्वी यथा यथा सितम
अग्निहोत्री बुद्धग्रह अस्ती , पिताम्बरम्‌
तेजस्वी वनस्पतियायाम्‌
जमुष्डस्वति, भारयन्ति
शिरौमणी बुद्धयामि बुद्धयामि हाष्ययामी ,
जडस्वी पिताम्बरम्‌ जाम्बनिम्न, तारिणी
चन्द्र सूर्य फिरूस्यति
जामनियागिरि बुद्धयामि,
फारस्वामि , कडस्वी , नम: यामि नम: यामि :
जडस्वी बुद्धयामि
इति सिद्धम्‌

बुध ग्रह के लिए

निवारण – सफ़ेद कपड़ा सवा मीटर लाओ उस कपड़े में हल्दी से 2। जगह 5  लिखो लिखकर पीपल पर लटका दो उस कपड़े पर 5 वह मनुष्य लिखेगा जिसके ऊपर बुध ग्रह दोष हो और सवा महीने तक गोचनी ओर दूध चढ़ाओ थोड़े गेहूं और थोड़े चने दूध में डालकर बुधवार के दिन पीपल पर चढ़ाओ इससे बुध ग्रह दशा समाप्त हो जायेगी।

अथवा

निवारण – सोमवार से लेकर बुधवार तक हर सप्ताह कनियर के वृक्ष पर दूध चढ़ायें और जिस दिन शुरूआत करें उस दिन कनियर के पेड़ पर संकल्प करके पेड़ की जड़ों में कलावा बाँध देवें पाँच सप्ताह तक यह कार्य विधि सोमवार से बुधवार तक करें, यह विधि करने से बुध की दृष्टि शुभ वातावरण में बदल जायेगी।

बुधदेव की दृष्टि नरम हेतु

सात दिनों तक गंगाजी पर रहो और ब्रह्मकुण्ड के अन्दर नहावो और नारियल को अपने ऊपर उतारकर गंगाजी में प्रवाहित करो और जय ब्रह्मदेव तीन बार  कहो और नारियल प्रवाहित कर दो ओर आंठवें दिन अपने घर आ जाओ और घर आकर पाँच कन्याओ को मीठा भोजन कराओ यह विधि करने से बुध देव का दोष समाप्त हो जायेगा।

Leave a Comment