गले दर्द का घरेलू उपाय

Tantra Mantra

गले दर्द का घरेलू उपाय | gale dard ka ilaj

निम्नलिखित  गले दर्द का घरेलू उपाय | gale dard ka ilaj का मंत्र बहुत प्रभावशाली है। Tantramantra.in एक विचित्र वेबसाइट है जो की आपके लिए प्राचीन तंत्र मंत्र सिद्धियाँ टोन टोटके पुरे विधि विधान के साथ लाती है TantraMantra.in कहता है सभी तांत्रिक मित्रों को इन कार्यविधियों को गुरु के मध्य नज़र ही करना चाहिये। तथा इन इलमो को केवल अच्छे कार्य में ही इस्तेमाल करना चाहिए, अन्यथा आपको इसके बुरे परिणाम का सामना खुद ही करना होगा ।

कुदरती टोटके जो मनुष्य पढ़कर खुद करेगा उसी का कार्य पूर्ण होगा और जो दूसरे को पढ़कर बतायेगा जिसको बतायेगा उसका कार्य नहीं होगा, जो पढ़ेगा और बिना किसी व्यक्ति को बताये करेगा उसी का कार्य सम्पूर्ण होगा।

निम्नलिखित तंत्र मंत्र प्राचीन तंत्र मंत्र साहित्यो से लिए गए हैं! जैसे इंद्रजाल, लाल किताब, शाबर मंत्र संग्रह इत्यादि|

कण्ठ बेल (गले दर्द का घरेलू उपाय)

विधि –  इस मंत्र का जाप करते हुए एक चाक्‌ से झाड़ा करते हुए धरा पर लकीर खींचते रहे  21 वीं बार झाड़ा करें तो सभी लकीरें काट दें; यह कार्य विधि करने से कण्ठ बेल ठीक हो जाती है 

मंत्र –
ॐ  नमो कण्ठ बेल।
तुं द्रम दुमाली। सिर पर जकड़ी।
 वज्र की ताली। गोरखनाथ गरजता आया।
 बढ़ती बेल को तुरत घटाया। जो कुछ बची ताही मुरझाया।
घट गयी बेल  बढ़ नहीं पावै। बैठा तहां, उठ नहीं पावै।
. फूटे और पीड़ा करे तो गोरखनाथ की दुहाई। 
फिरै मेरी भक्ति। गुरु की शक्ति।
फुरो मंत्र ईश्वरोबाचा।

अगर आपको गले दर्द का घरेलू उपाय का मंत्र पसंद आई हो तो कृपया निचे कमेंट करें अथवा शेयर करें

यह भी पढ़े:-

  1. गर्भ ठहरने की विधि
  2. अकल दाढ़ का दर्द कैसे बंद होगा
  3. नाभि ठीक करने का मंत्र
  4. वशीकरण मंत्र
  5. पुरुषों में कमर दर्द

3 thoughts on “गले दर्द का घरेलू उपाय | gale dard ka ilaj”

Leave a Comment